Hindi Suvichar
Swami Vivekanand Quotes
स्वामी विवेकानंद सुविचार

जिस समय जिस काम के लिए वादा करो ठीक उसी समय उससे करना चाहिए नहीं तो लोगों का विश्वास उठ जाता है|
शक्ति जीवन है, निर्बलता मृत्यु हैं। विस्तार जीवन है, संकुचन मृत्यु हैं। प्रेम जीवन है, द्वेष मृत्यु हैं।
उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाये।
जैसा तुम सोचते हो, वैसे ही बन जाओगे। खुद को निर्बल मानोगे तो निर्बल और सबल मानोगे तो सबल ही बन जाओगे।
जब इंसान जो गंदे और मैले कपड़े में शर्म आती है, तो गंदे और मैले विचारों में भी शर्म आनी चाहिए|